History

important for various exam just like BPSC /UPSC /BIHAR SSC / SSC CGL /OTHER STATE PCS exam.

the-revolutionary-movement-in-india

The Revolutionary Movement in India || भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में क्रांतिकारियों की भूमिका

31/08/2019

The Revolutionary Movement in India || भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में क्रांतिकारियों की भूमिका BPSC PRE मे पूछे गए प्रश्न 1.अभिनव भारत से कौन संबंधित है । उत्तर – वी डी सावरकर 2.मुजफ्फरपुर में किंग्सफोर्ड की हत्या का प्रयास कब किया गया । उत्तर – 1908 3.अनुशीलन समिति क्या थी । उत्तर – एक क्रांतिकारी संगठन […]

Read More
गवर्नर जनरल - प्रमुख एक्ट एवं आर्थिक नीति

गवर्नर जनरल – प्रमुख एक्ट एवं आर्थिक नीति

29/08/2019

गवर्नर जनरल – प्रमुख एक्ट एवं आर्थिक नीति जिन क्षेत्र पर अंग्रेजों का प्रत्यक्ष शासन स्थापित हुआ उसे 3 प्रेसिडेंसी में बांटा गया. वह था बंगाल,  मद्रास तथा मुंबई प्रारंभ में कंपनी के अधिकारी ही प्रशासन के अधिकारी थे कंपनी को धनी बनाने तथा अपने लिए धन एकत्र करने के लिए अधिकारियों ने बंगाल का […]

Read More
1857 ki kranti

pramukh vidroh avam 1857 ki kranti – भारत के प्रमुख विद्रोह एवं 1857 की क्रांति

05/08/2019

भारत के प्रमुख विद्रोह एवं 1857 की क्रांति सन्यासी विद्रोह सन्यासियों के द्वारा आरंभ होने के कारण इससे सन्यासी विद्रोह कहा जाता है। यह शंकराचार्य के अनुयाई व गिरी संप्रदाय के थे इनके आक्रमण की पद्धति गोरिल्ला युद्ध तकनीक थी इस विद्रोह का नाम सन्यासी विद्रोह बंगाल के गवर्नर वारेन हेस्टिंग्स ने दिया था बकिम […]

Read More
Naveen Rajyon Ka Uday - नवीन राज्यों का उदय

Naveen Rajyon Ka Uday – नवीन राज्यों का उदय

20/04/2019

Naveen Rajyon Ka Uday – नवीन राज्यों का उदय ईस्ट इंडिया कंपनी एक व्यापारिक कंपनी थी, जो राजनितिक महत्त्वकांक्षाओ से बहुत दूर थी । इसका मुख्य उद्देश्य व्यापार करना था । किन्तु संयोगवश यहाँ की राजनितिक परिस्तिथियों ने उन्हें भारतीय राजनितिक संघर्ष कि लिए प्रेरित किया । परिणामस्वरूप वे भारतीय राज्यों से युद्ध कर उनका […]

Read More
arrival of european companies in india भारत में यूरोपीय कंपनियों का आगमन

arrival of european companies in india || भारत में यूरोपीय कंपनियों का आगमन

11/04/2019

भारत में यूरोपीय कंपनियों का आगमन भारत की प्राचीन सांस्कृतिक विरासत, आर्थिक संम्पन्नता, आध्यात्मिक उपलब्धियां, दर्शन, कला आदि से प्रभावित होकर मध्यकाल में बहुत से व्यापारियों एवं यात्रियों का यहाँ आगमन हुआ । यूरोपीय शक्तियों में पुर्तगाली कंपनी ने भारत में सबसे पहले प्रवेश किया । भारत के लिए नए समुद्री मार्ग की खोज पुर्तगाली […]

Read More
error: Content is protected !!