pramukh vidroh avam 1857 ki kranti – भारत के प्रमुख विद्रोह एवं 1857 की क्रांति

1857 ki kranti

भारत के प्रमुख विद्रोह एवं 1857 की क्रांति

सन्यासी विद्रोह
  • सन्यासियों के द्वारा आरंभ होने के कारण इससे सन्यासी विद्रोह कहा जाता है।
  • यह शंकराचार्य के अनुयाई व गिरी संप्रदाय के थे
  • इनके आक्रमण की पद्धति गोरिल्ला युद्ध तकनीक थी
  • इस विद्रोह का नाम सन्यासी विद्रोह बंगाल के गवर्नर वारेन हेस्टिंग्स ने दिया था
  • बकिम चंद्र चटर्जी ने अपने उपन्यास आनंदमठ का कथानक सन्यासी विद्रोह से लिया है।
    note : आनंदमठ प्रकाशन – 1882 में,
    भाषा – मूलतः बंगाली
    संशोधन – अब तक चार बार
    रचना – बकिम चंद्र चटर्जी
    वंदे मातरम् का उल्लेख इसी में किया गया
चुआर विद्रोह
  • स्थान – बंगाल एवं बिहार
  • 1766 से 1772 तक
फकीर विद्रोह (1776 से 1777)
  • स्थान – बंगाल
  • नेता- मजनू साह
  • यह जमींदारों और किसानों से धन लूटते थे
पागलपंथी 1813
  • स्थान उत्तर पूर्वी भाग
  • नेता टीपू ( इसमें एक न्यायाधीश मजिस्ट्रेट और जिलाधिकारी की नियुक्ति किया था )
कूका आंदोलन (1840-1872)
  • नेता सेन साहब अर्थात भगत जवाहर मल एवं राम सिंह
  • उद्देश्य जाति और अंतरजातीय विवाह पर लगे प्रतिबंधों को समाप्त करना मांस और नशीली वस्तुओं का परित्याग करना अंग्रेजों को उखाड़ फेंकना
  • स्थान उत्तर पश्चिमी प्रांत
भील विद्रोह
  • 1818 से 1848 तक
  • उद्देश्य साहूकारी व्यवस्था के शोषण एवं अन्य बदलाव के विरुद्ध
  • नेता दौलत सिंह, हडिया, मोतीलाल तेजावत
संथाल विद्रोह
  • यह विद्रोह सबसे प्रभावशाली था
  • स्थान बिहार झारखंड (भागलपुर से राजमहल)
  • उद्देश्य भूमिकर अधिकारियों के दुर्व्यवहार, पुलिस के दमन, जमींदारों एवं साहूकारों के विरुद्ध
  • नेता सिद्धू और कान्हू
कोल विद्रोह
  • स्थान छोटा नागपुर
  • मुंडा उरांव हो महाल आदि जनजातियां यहां निवास करती है इसे ही कोल कहा जाता है।
  • उद्देश्य 1822 ईसवी में ब्रिटिश सरकार ने चावल की नसीली शराब पर उत्पाद शुल्क लगा दिया था जिसे आदिवासी इस्तेमाल करते थे इसी के विरुद्ध य विद्रोह प्रारंभ हुआ था
  • नेता बुधु भगत गंगा नारायण
खासी विद्रोह 1828 1833
  • स्थान बंगाल के पूर्व में जयंतिया और गारो पहाड़ी के मध्य
  • उद्देश्य 1824 में ब्रह्मपुत्र नदी घाटी क्षेत्र पर अंग्रेजों का अधिकार हो गया इस क्षेत्र को सिलहट से जोड़ने के लिए अंग्रेज सड़क निर्माण करना चाहते थे जिसके विरुद्ध लोगों ने विद्रोह शुरू कर दिया
  • नेता तीरथ सिंह
बहावी आंदोलन 1830-1857
  • नेता सैयद अहमद खान
  • उद्देश्य अंग्रेजों के विरुद्ध धर्म युद्ध जिहाद में शामिल होना
मुंडा विद्रोह उलगुलान विद्रोह 1893- 1900
  • नेता बिरसा मुंडा
  • स्थान झारखंड रांची एवं सिंहभूम का इलाका
  • विरसा जर्मन मिशनरियों के प्रभाव में आकर ईसाई बन गया था परंतु पुनः उसने अपने पूर्वज का धर्म अपना लिया
  • एक मान्यता के अनुसार 1895 ईस्वी में बिरसा को परमेश्वर के दर्शन हुए और वह पैगंबर होने का दावा करने लगा
  • इस विद्रोह में मुंडा स्त्रियों ने भी भाग लिया था
1857 का विद्रोह
  • विद्रोह का आरंभ 10 मई 1857
  • 11 मई को विद्रोहियों ने दिल्ली पर कब्जा कर बहादुर शाह जफर को भारत का बादशाह घोषित कर दिया
    कारण
  • तात्कालिक कारण चर्बी वाला कारतूस
  • राज्य विस्तार की नीति के कारण भारत के अनेक शासकों और सरदारों में असंतोष व्याप्त हो गया था
  • डलहौजी ने विलय नीति को कड़ाई से लागू किया तो असंतोष और भड़क उठा
  • झांसी के मृत राजा के दत्तक पुत्र को डलहौजी ने उत्तराधिकारी नहीं माना तथा झांसी पर कब्जा कर लिया जिसके कारण लक्ष्मीबाई ने विद्रोह कर दिया
  • पेशवा बाजीराव द्वितीय की मृत्यु के पश्चात उसके दत्तक पुत्र नानासाहेब पेशवा के राजा के रूप में मिलने वाली पेंशन अंग्रेजों द्वारा बंद कर दिया गया जिसके कारण नाना साहब ने विद्रोह शुरू कर दिया
  • नई भू- व्यवस्था लागू करने के कारण किसानों का अधिकार खत्म हो गया था जिसके कारण किसानों ने विद्रोह किया
  • ईसाई धर्म प्रचारकों ने हिंदू धर्म की और जनता के पुराने रीति-रिवाजों की खुलेआम निंदा की जिससे लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचा धर्म के नाम पर लोग विद्रोह में शामिल हो गए
  • अंग्रेजी फौज में ऊंचे पद भारतीयों को नहीं दिया जाता था तथा वेतन में भी काफी अंतर था यूरोपिया अधिकारी भारतीयों को संदेह की दृष्टि से देखते थे तथा भारतीयों को लड़ने के लिए समुद्र के पार भी जाना पड़ता था परंतु उस समय हिंदुओं का मानना था कि समुद्र पार जाने से धर्म नष्ट हो जाता है सैनिकों ने इसका विरोध किया इसके साथ ही चर्बी वाले कारतूस के प्रयोग से सैनिकों के धार्मिक भावनाओं को बहुत ठेस पहुंचा
प्रमुख व्यक्ति

बहादुर शाह जफर

  • भारत का अंतिम मुगल सम्राट था
  • इन्होंने दिल्ली में 1857 विद्रोह का नेतृत्व किया
  • 20 सितंबर 1857 को इस ने समर्पण किया
  • समर्पण के पश्चात इसे रंगून जेल भेजा गया तथा वही उसकी मृत्यु हो गई
    नोट : रंगून में उसकी मजार पर लिखा है कि जफर इतना बदनसीब है कि उसे अपनी मातृभूमि में दफन होने के लिए जमीन भी नसीब नहीं हुई

नाना साहेब

  • शुरुआत 5 जून 1857
  • स्थान कानपुर
  • अजीमुल्ला नाना साहेब का मुख्य सलाहकार था
  • नाना साहब का वास्तविक नाम धोंधू पंत था
  • नाना साहब के सैनिकों का नेतृत्व तात्या टोपे ने किया
  • तात्या टोपे का वास्तविक नाम रामचंद्र पांडुरंग
  • इसे भारत का गैरीबाल्डी भी कहा जाता है
  • तात्या टोपे को उसके मित्र मानसिंह ने पकड़ा दिया जिसके बाद तात्या टोपे को फांसी दे दी गई

लक्ष्मी बाई

  • लक्ष्मी बाई के बचपन का नाम मणिकर्णिका था
  • उसने दामोदर राव नामक एक बालक को दिया था
  • लॉर्ड डलहौजी ने गोद निषेध नियम का लाभ उठाकर झांसी को ब्रिटिश साम्राज्य में मिला दिया
  • 17 जून 1858 को ग्वालियर के किले में वीरता से लड़ते हुए लक्ष्मी बाई वीरगति को प्राप्त हुई

वीर कुंवर सिंह

  • स्थान बिहार (जगदीशपुर )
  • छापामार युद्ध नीति के तहत विरोध किया
  • इसके भाई अमर सिंह ने भी इस विद्रोह में कुंवर सिंह का साथ दिया
1857 के विद्रोह में भाग नहीं लेने वाले
  • कश्मीर के गुलाब सिंह
  • हैदराबाद के सालारजंग
  • नेपाल के जंग बहादुर
  • भोपाल की बेगम
  • सिख
  • दीपांकर राव (सिंधिया के मंत्री)
  • भारतीय बुद्धिजीवी वर्ग / शिक्षित वर्ग
अन्य तथ्य
  • 1856 के अंत में सेना में एनफील्ड राइफल का प्रयोग शुरु हो गया था जिसमें चर्बी युक्त कारतूस का प्रयोग होता था
  • 29 मार्च 1857 को बैरकपुर की छावनी में 34 वी एन आई रेजिमेंट के मंगल पांडे ने लेफ्टिनेंट बाग और जनरल हयूरोज की हत्या कर दी
  • मंगल पांडे बलिया का निवासी था
  • विद्रोह के समय इंग्लैंड के प्रधानमंत्री पामर्सटन थे
  • विद्रोह के समय भारत के गवर्नर जनरल लॉर्ड कैनिंग थे
  • विद्रोह के पश्चात पील कमीशन का गठन किया गया था इसके आधार पर भारतीय सैनिकों तथा यूरोपीय सैनिकों की संख्या का अनुपात
  • 5:1 से घटाकर 2:1 कर दिया गया।
BPSC PRE में पूछे गये प्रश्न जो इस टॉपिक से सम्बंधित से संबंधित हैं.

 

अन्य परीक्षाओं में इस टॉपिक से सम्बंधित पूछे गए प्रश्न
NO प्रश्न उत्तर
1 1857 निम्नलिखित क्रांतिकारियों में से किस का वास्तविक नाम रामचंद्र पांडुरंग था तात्या टोपे
2 रानी लक्ष्मीबाई को अंतिम युद्ध में सामना करना पड़ा ह्य्रुरोज
3 अंग्रेजी भारतीय सेना में चर्बी वाले कारतूस से चलने वाले एनफील्ड राइफल कब शामिल किया गया दिसंबर 1856
4 1857 के विद्रोह के समय ब्रिटिश प्रधानमंत्री कौन था पामर्स्टन
5 आधुनिक इतिहासकार जिसने 1857 के विद्रोह को स्वतंत्रता की पहली लड़ाई कहा था
6 1857 के बरेली विद्रोह का नेता कौन था खान बहादुर
7 लखनऊ में 1857 के विद्रोह का नेतृत्व किसने किया था हजरत महल
8 मंगल पांडे कहां के विप्लव से जुड़े हुए हैं बैरकपुर
9 भारतीय स्वाधीनता आंदोलन का सरकारी इतिहासिक कौन था एसएन सेन
10 निम्नलिखित में से कौन इलाहाबाद में 1857 के संग्राम का नेता था
11 मंगल पांडे सिपाही था 34 की नेटिव इन्फेंट्री का
12 निम्नलिखित में से कौन 1857 के विद्रोह में अंग्रेजों का सबसे कट्टर दुश्मन था मौलवी अहमदुल्लाह शाह
13 1857 के संघर्ष में भाग लेने वाले सिपाहियों की सर्वाधिक संख्या कहां से थी अवध
14 1857 के विद्रोह के दौरान बहादुर शाह ने किसे साह-ए-आलम बहादुर का खिताब दिया था बख्त खान
15 नाना साहेब का कमांडर इन चीफ कौन था तात्या टोपे
16 1857 की क्रांति का प्रमुख कारण क्या था ब्रिटिश साम्राज्य की नीति
17 1857 की क्रांति सर्वप्रथम कहां से प्रारंभ हुई थी मेरठ
18 निम्नलिखित में से किस ने 1857 के विद्रोह को एक षड्यंत्र की संज्ञा दी सर जेम्स आउटरम
19 महारानी विक्टोरिया ने भारतीय प्रशासन को ब्रिटिश ताज के नियंत्रण में लेने की घोषणा कब की थी 1 नवंबर 1858
20 वर्ष 1857 के विद्रोह के संदर्भ में निम्नलिखित में से किसे उसके मित्र ने धोखा दिया तथा जिसे अंग्रेजों द्वारा बंदी बनाकर मार दिया गया तात्या टोपे
21 कुंवर सिंह 1857 के विद्रोह के प्रमुख नायक थे वह निम्नलिखित में से किससे संबंधित है बिहार
22 निम्नलिखित में से कौन सा आयोग 1857 के विद्रोह के दमन के बाद भारतीय फौज के नव संगठन से संबंधित है पील आयोग
23 1857 के स्वाधीनता संग्राम का प्रतीक था कमल और रोटी
24 निम्नलिखित में से कौन असम में 1857 की क्रांति का नेता था दीवान मनीराम
25 1857 के स्वतंत्रता संग्राम में किस राजवंश ने अंग्रेजों की सर्वाधिक सहायता की ग्वालियर के सिंधिया
26 1857 के विद्रोह के बाद ब्रिटिश सरकार ने सिपाहियों का किन-किन प्रांतों से चयन किया गोरखा सिख एवं पंजाबी
27 1857 के विद्रोह का बिहार में 15 जुलाई 1857 से 20 जनवरी 1858 तक केंद्र था जगदीशपुर
28 1857 के विद्रोह के समय भारत का गवर्नर जनरल कौन था लॉर्ड कैनिंग
29  1857 के विद्रोह के समय बैरकपुर में कौन ब्रिटिश कमांडिंग ऑफिसर था हैरसे
30 लक्ष्मी बाई की जन्म स्थली कहां पर है वाराणसी
31 जगदीशपुर के किस व्यक्ति ने 1857 के विद्रोह में क्रांतिकारियों का नेतृत्व किया कुंवर सिंह
32 संथाल विद्रोह का नेतृत्व किसने किया था सिद्धू एवं  कान्हू
33 उलगुलान विद्रोह किस से जुड़ा हुआ था बिरसा मुंडा
34 वेलू थंपी ने अंग्रेजो के विरुद्ध आंदोलन का नेतृत्व किया था केरल में
35 1857 के विद्रोह के ठीक बाद बंगाल में निम्नलिखित में से कौन सा विद्रोह हुआ था नील विद्रोह
36 1921 का मोपला विद्रोह कहां हुआ था केरल
37 महाराष्ट्र में रामोसी कृषक जत्था किसने स्थापित किया था वासुदेव बलवंत फड़के
38 नील कृषकों की दुर्दशा पर लिखी गई पुस्तक नील दर्पण के लेखक कौन थे दीनबंधु मित्र
39 1855 ईसवी में संथालो ने किस अंग्रेज कमांडर को हराया था मेजर बारो
40 जनजातीय लोगों के संबंध में आदिवासी शब्द का प्रयोग किसने किया था ठक्कर बापा
41 रामोसी विद्रोह सही रूप में किस भौगोलिक इलाके में हुआ था पश्चिमी घाट
42 निम्नांकित में से कौन-सी घटना महाराष्ट्र में घटित हुई थी भील विद्रोह
43 निम्नलिखित विद्रोह में से किसको बकिम चंद्र चटर्जी ने अपने उपन्यास आनंदमठ में उल्लेखित किया है सन्यासी विद्रोह
44 अंग्रेजों के विरुद्ध भीलो द्वारा क्रांति प्रारंभ की गई थी मध्य प्रदेश एवं महाराष्ट्र में
45 मुंगेर के बढ़ैयाताल विद्रोह का उद्देश्य क्या था बकास्त भूमि की वापसी की मांग
46 मानव बलि प्रथा का निषेध करने के कारण कारण अंग्रेजों के विरुद्ध विद्रोह करने वाली जनजाति का नाम क्या था खोंद
47  मुंडाओ ने विद्रोह कहां कब किया था 1895
48 खरवार आदिवासी आंदोलन कब हुआ था 1874
49 कोल विद्रोह का नेतृत्व किसने किया था बुधु भगत
50 ताना भगत आंदोलन जत्रा उरांव ने किस वर्ष प्रारंभ किया था 1914
51 कूका आंदोलन को किसने संगठित किया था गुरु राम सिंह
52 जिस आदिवासी नेता को जगतपिता अर्थात धरती आबा कहा जाता था बिरसा मुंडा
53 पागलपंथी विद्रोह मुख्यतः एक विद्रोह था गारो का
54 पागल पंथ की स्थापना किसने की थी करम साह
55 छोटानागपुर जनजाति विद्रोह कब हुआ था 1820
56 निम्नलिखित में से कौन सा फराजी विद्रोह का नेता था दादू मियां
ONLINE TEST / EXAM – टेस्ट देकर खुद का मूल्यांकन करे

NOTE : हमने इस टॉपिक से सम्बंधित जानकारी/चित्र NCERT BOOK और कुछ ऑथेंटिक वेबसाइट से लिया हैं। यह पोस्ट BPSC /UPSC/SSC/और RAILWAY एग्जाम के लिए काफ़ी महत्वपूर्ण हैं। अगर आपको किसी भी प्रकार का कोई सुझाव या शिकायत है तो हमें bpscrightway@gmail.com पर संपर्क कर सकते है। हम जल्द से जल्द उस त्रुटि को दूर करने का प्रयास करेंगे।

इसे भी पढ़े :

सिन्धु घाटी की सभ्यता

भारत में यूरोपीय कंपनियों का आगमन

नवीन राज्यों का उदय

मुख्य परीक्षा का उत्तर कैसे लिखे

connect with us :

Twitter

facebook

One thought on “pramukh vidroh avam 1857 ki kranti – भारत के प्रमुख विद्रोह एवं 1857 की क्रांति”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!